ऑनलाइन निवेश

मुख्य Indices

मुख्य Indices
Click the Submit button in case CIN is entered.

एमसीए सेवाएं

A मुख्य Indices facility has been made available to the general public to view master details of any company/LLP registered with Registrar of Companies. This facility may be availed by clicking “View Company Master Data”. A similar facility has also been made available in respect of the 'Register of Charges' for the companies/LLPs by clicking on to the 'View Index of Charges' and for the viewing the details of the signatories of any company/LLP by clicking on ‘View Signatory Details’.

To access Master Company/LLP Data click “View Company/LLP Master Data” link; to view Index of Charges, click 'View Index of Charges'; and to access signatory details, click on ‘View Signatory Details’ on the left hand side of this page.

Enter the Company/LLP Name or मुख्य Indices CIN/LLPIN of the Company/LLP.

मुख्य Indices

  • उपभोक्ता संरक्षण के बारे में
  • विजनटेक -सर्विस ईंजिनियर की ज़िले वार जानकारीडीएसके डिजिटल -सर्विस ईंजिनियर की ज़िले वार जानकारीडीएसके डिजिटल - पीओएस मशीन के संचालन हेतु यूज़र मेन्युअलविजनटेक - पीओएस मशीन के संचालन हेतु यूज़र मेन्युअलमध्यप्रदेश, खादय आयोग मैं अध्यक्ष या सदस्य पद पर नियुक्ति
    खाद्य आयोग में प्रतिनियुक्त पर भरती हेतु आवेदन फॉर्म
    खाद्य आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्य के पदों पर नियुक्ति हेतु प्रस्तुत करने की समय-सीमा वढाने बावत
    TENDER No: 5238 Procurement of Banking Services/2017
    जिला उपभोक्ता फोरम में अध्यक्ष पद पर नियुक्ति हेतु विज्ञापन
    उचित मूल्‍य दुकान विहिन ग्राम पंचायत
    विज्ञप्ति’ एवं आवेदन का प्रारुप ‘क’
    TENDER No: 5238 Procurement of Banking Services/2017(Corrigendum)मुख्य Indices
    TENDER No: 5238 Procurement of Banking Services/2017(PostPreBid)
    Tender No: 1158 Selection of agency for supply of manpower.
    कनिष्ट आपूर्ति अधिकारी के पद पर सम्मिलित प्रावीण्य सूची के अभ्यार्थियों की सूची.
    चयनित के दस्तावेज सत्यापन की जानकारी
    अनुसूचित जनजाति के परिवारों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत दाल वितरण की पायलट योजना

हेल्‍पलाइन Analytical Dashboard

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्‍ता संरक्षण विभाग का मुख्‍य मुख्य Indices उद्देश्‍य लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत चिन्‍हांकित परिवारों को पात्रतानुसार रियायती दर पर सामग्री का वितरण्‍ कराना, किसानों को उनकी उपज का सही मूल्‍य दिलाने हेतु समर्थन मूल्‍य पर खाद्यान्‍न का उपार्जन करना एवं उपभोक्‍ता हितों का संरक्षण करना है। प्रदेश में दिनांक 01 मार्च, 2014 से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के प्रावधान अनुसार लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली का प्रारम्भ किया गया। पात्र परिवारों में अन्त्योदय अन्न योजना के परिवारों के साथ-साथ प्राथमिकता परिवार के रूप में 24 श्रेणियों को शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में सम्मिलित किया गया। प्राथमिकता परिवार की श्रेणियों में न सिर्फ समस्त बीपीएल परिवार सम्मिलित किए गए अपितु 23 अन्य श्रेणियों के गैर-बीपीएल मुख्य Indices परिवारों को भी सम्मिलित किया गया। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के प्रावधानानुसार मुख्य Indices ‘राज्य खाद्य आयोग’ का दायित्व अंतरिम रूप से मध्यप्रदेश राज्य उपभोक्ता प्रतितोषण आयोग को मुख्य Indices दिया गया है तथा प्रत्येक जिले मुख्य Indices के कलेक्टर को ‘जिला शिकायत निवारण अधिकारी’ घोषित किया गया है।

मुख्य Indices

The Child and Adolescent Labour (Prohibition and Regulation) Act 1986 || For more details Click Here || "The word KHADI and the LOGOs are registered trademarks of the Khadi and Village Industries Commission (KVIC). No one may मुख्य Indices use or reproduce these trademarks in any manner on products or on their website or any printed materiais without the written permission of KVIC"

अध्यक्ष का संदेश

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के आह्वान पर जब राष्ट्र आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, ऐसे समय में खादी ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। न केवल स्वतंत्रता आंदोलन में अपितु स्वतंत्रता के पश्चात अभी तक के पचहत्तर वर्षों में खादी और ग्रामोद्योग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महात्मा गांधी के कथन, कि भारत का भविष्य उसके गांवों में बसता है, राष्ट्र निर्माण में हमारे गांवों की ठोस सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था के योगदान को दर्शाता है।

PMEGP

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम

पीएमईजीपी के नए दिशानिर्देश प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) का शुभारंभ 15 अगस्त, 2008 को हुआ था और इसे ग्रामीण रोजगार सृजन कार्यक्रम (आरईजीपी) के स्थान पर शुरू किया गया था। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) एक क्रेडिट लिंक्ड कार्यक्रम है, जिसे सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा देश के मुख्य Indices ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रोजगार सृजन मुख्य Indices हेतु वर्ष 2008-09 में शुरू किया गया था।

SFURTI

रेटिंग: 4.53
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 234
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *