एक विदेशी मुद्रा ब्रोकर चुनना

फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में

फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में

फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में

Start with this article to know how ECN trading model works, who liquidity providers are, and how OctaFX processes your orders.

Risk Management

Technical analysis

Learn everything about the art of charts, timeframes, and trends recognition. Read this article to know more about chart patterns and indicators.

Trading strategies

What trading strategies to apply and which one suits you best? Read this article to know how can you trade to make the most of it!

How to trade Forex

Learn everything about currency pair types, order types, and market direction. This article also covers basic trading calculations essential फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में to start trading.

Forex Trading Sessions

Forex market presents an opportunity to trade 24 hours a day. In order to know what currency pairs to trade at the certain time you need to learn फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में trading sessions schedule that we describe here.

An introduction to Forex Market

How does Forex market work, what factors influence currency rates changes, who participates in foreign currency exchange, and how to choose a forex broker — read this article to know the answers.

Fundamental analysis and economic indicators

Read this article to learn what major economical factors and political events influence currency pair rates and how not to miss indicators release dates.

How to start trading in 4 easy steps

Find out how to start trading in 4 simple steps. You will know how to open an account, make your initial deposit, apply leverage, and other essential things. Read this article to learn more about how to begin trading with OctaFX.

What are Moving averages?

Moving averages are among the most widely used and efficient indicators for technical analysis. Traders of all levels determine long term trends using this tool.

How to trade Forex on news

We’ll cover the fundamental price driver in the Forex market: economic news releases. Leading banks, hedge funds, and retail traders all look to the news for making their trading decisions.

Fibonacci trading strategy — Retracements

Forex Strategies using Fibonacci Retracements — Part 2

Currency pair correlations — Forex trading

Everything you need to know about leverage

Learn what is leverage in the forex and contract trading industries, what are leverage strengths and risks and more.

Here’s how to become a Forex trader in 7 simple steps

Trading using leverage

How to make money from online trading

How candlestick charts work and what timeframe to choose

What are the most common types of charts, how to read a Japanese Candlestick chart, and what timeframe to choose to understand market movements better and make more realistic forecasts?

Let’s dismantle 7 myths about Forex

The Forex market is full of myths that harm traders. We’ve decided to dismantle seven most prevalent misconceptions.

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है? कैसे शुरू करें।

फॉरेक्स ट्रेडिंग से भले ही आप परिचित हों या नहीं, लेकिन लाभ प्राप्त करने का यानिकी निवेश से कमाई करने का यह भी एक शानदार तरीका है। इसलिए इसे समझने से पहले हमें यह समझना होगा की प्रत्येक देश की अपनी अलग अलग मुद्रा होती है। और प्रत्येक राष्ट्र की मुद्रा एक दुसरे के मुकाबले मूल्य के आधार पर कमजोर एवं मजबूत होती है। कहने का अभिप्राय यह है की इस वैश्वीकरण के युग में पूरी दुनिया में कहीं भी बिजनेस किया जा सकता है और इन्टरनेट ने इसे और आसान बना दिया है।

आज व्यक्ति चाहे तो भारत में बैठे बैठे विदेशी मुद्रा जैसे डॉलर, यूरो, पौंड इत्यादि कमा सकता है यह सब इन्टरनेट के कारण मुमकिन हुआ है। खैर इस लेख में हम केवल फॉरेक्स ट्रेडिंग पर ही अपना ध्यान आकर्षित करने की कोशिश करेंगे। वह इसलिए क्योंकि वर्तमान में फोरेक्स ट्रेडिंग भी कमाई करने का एक माध्यम बन सकता है। लेकिन यह कार्य व्यक्ति केवल किसी रजिस्टर्ड फ़ॉरेक्स ब्रोकर के माध्यम से ही कर सकता है। हालांकि विभिन्न देशों की मुद्राओं के प्रति हमारा आकर्षण बचपन से ही पैदा हो जाता है।

इसलिए यदि हमारे पास भारत के अलावा किसी अन्य देश की मुद्रा कभी आती है तो हम उसे संग्रहित करना शुरू कर देते हैं। वयस्क होने पर मुद्राओं के प्रति यही आकर्षण हमें फॉरेक्स ट्रेडिंग के बारे में और जानने को उत्सुक करता है। लोगों की इसी उत्सुकता को ध्यान में रखते हुए आज हम फॉरेन करेंसी एक्सचेंज ट्रेडिंग के बारे में जानने का प्रयत्न कर रहे हैं।

फॉरेक्स ट्रेडिंग की जानकारी

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है (What is Forex Trading in Hindi):

फॉरेक्स ट्रेडिंग में पहला शब्द फ़ॉरेक्स का अर्थ फॉरेन एक्सचेंज होता है। साधारण शब्दों में फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग का अर्थ एक दुसरे के बीच विभिन्न विदेशी मुद्राओं का व्यापार करना है अर्थात इस प्रक्रिया के अंतर्गत विभिन्न देशों की मुद्राओं में उनके मूल्य के घटते बढ़ते रहने के कारण व्यापार होता है। कोई भी व्यक्ति जो विदेशों से किसी भी प्रकार का कोई सौदा करना चाहता है उसे वह सौदा खरीदने के लिए उस देश की मुद्रा की आवश्यकता हो सकती है।

चाहे कोई छुट्टी पर भ्रमण करने के लिए गया हो, या फिर वह विदेश से कुछ खरीदना चाहता हो, या किसी सर्विस के लिए भुगतान कर रहा हो इत्यादि के लिए उसे उस देश की मुद्रा की आवश्यकता होती है। उदाहरणार्थ: अमेरिका में स्थित कॉलेज का शुल्क देने के लिए व्यक्ति को US Dollor की आवश्यकता हो सकती है, क्योंकि अमेरिका में स्थित कॉलेज भारतीय रूपये में फीस स्वीकार नहीं करेगा। इसलिए डॉलर में भुगतान करने के लिए सर्वप्रथम व्यक्ति को US Dollor खरीदने होंगे।

इन्हें खरीदने के लिए व्यक्ति को उस समय निर्धारित डॉलर मूल्य के आधार पर भारतीय रुपयों में भुगतान करना होगा। बस इन्हीं आवश्यकताओं के फलस्वरूप फॉरेक्स ट्रेडिंग की शुरुआत होती है जहाँ विदेशी मुद्रा की बिक्री एवं विनिमय किया जाता है। और जहाँ व्यक्ति ने भारतीय रूपये देकर US Dollor की प्राप्ति की उसे Exchange कहा जाता है। इस स्थिति में इस एक्सचेंज द्वारा US Dollor फॉरेन एक्सचेंज मार्किट से खरीदे जायेंगे। साधारण शब्दों में विदेशी मुद्रा की ट्रेडिंग ही फॉरेक्स ट्रेडिंग कहलाती है।

फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे काम करती है ?

फॉरेक्स ट्रेडिंग भी इक्विटी ट्रेडिंग की तरह ही है बस फर्क सिर्फ इतना है की इक्विटी ट्रेडिंग में कमाई या नुकसान के लिए शेयर का मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। तो वहीँ फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में एक्सचेंज मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। फॉरेक्स ट्रेडिंग से कमाई करने के लिए व्यक्ति अपनी अपेक्षा एवं जानकारी के अनुसार कोई भी मुद्रा खरीद सकता है। और अच्छे ढंग से समझने के लिए आप नीचे दिए गए उदाहरणों को पढ़ सकते हैं।

उदाहरणार्थ:

माना की प्रमोद नामक व्यक्ति डॉलर की बढती हुई कीमतों का लाभ उठाना चाहता है चूँकि डॉलर आज 70 रूपये पर कारोबार कर रहा है। प्रमोद को अपनी जानकारी एवं अनुभव के आधार पर लगता है की यह तीन महीनों के अन्दर अन्दर 73 रूपये तक जा सकता है। तो इस स्थिति में व्यक्ति USD खरीद सकता है और जब तीन महीने बाद यह 73 रूपये पर पहुँच जाए तो इन्हें बेच सकता है। इस प्रकार व्यक्ति प्रत्येक 1000$ पर 3000 रूपये तक की कमाई कर पाने में सफल होगा।

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे शुरू करें:

हालांकि भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग आम लोगों की पहुँच से दूर है इसके अनेकों कारण जैसे इस प्रक्रिया में अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए अधिक निवेश की आवश्यकता होती है। और दूसरा लोग अक्सर इस बारे में भी भ्रमित रहते हैं की भारत में इस तरह का काम करना कानूनी तौर पर सही है या फिर यह अवैध होता है। इसलिए यहाँ पर यह स्पष्ट कर देना जरुरी है की भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग को लेकर काफी नियम शर्तें निर्धारित की गई हैं।

इसलिए फॉरेक्स ट्रेडिंग नामक इस प्रक्रिया को सिर्फ वही व्यक्ति कर सकता है जिसके पास किसी SEBI Registered Broker का अकाउंट हो। कहने का आशय यह है की ऐसा कोई भी व्यक्ति जो फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करना चाहता हो के पास किसी फ़ॉरेक्स ब्रोकर के साथ अकाउंट होना अति आवश्यक है।

वर्तमान में कानूनी रूप से फ़ॉरेक्स की अनुमति कुछ भारतीय एक्सचेंजों, बीएसई, एनएसई, एमसीएक्स-एसएक्स (मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज) इत्यादि को है। भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए व्यक्ति को किसी रजिस्टर्ड फ़ॉरेक्स ब्रोकर के साथ ही अकाउंट खोलने की आवश्यकता होती है। और इसी खाते के माध्यम से व्यक्ति फॉरेक्स ट्रेडिंग कर सकता है।

सफल फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए कुछ टिप्स :

यद्यपि जैसे की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की फॉरेक्स ट्रेडिंग भी इक्विटी ट्रेडिंग यानिकी शेयर मार्किट की तर्ज पर ही कार्य करती है। जहाँ शेयर मार्किट में शेयर का मूल्य नफा नुकसान तय करता है वही इसमें एक्सचेंज मूल्य। इसलिए यह जरुरी नहीं है की जो फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करेगा वह लाभ ही प्राप्त करेगा हो सकता है उसे नुकसान भी हो। इसलिए यहाँ नीचे हम कुछ ऐसी बातों का जिक्र कर रहे हैं जिनका अनुसरण करके सफल फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग की जा सकती है।

  • फॉरेक्स ट्रेडिंग में निवेश करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें की आपको मार्किट की उचित जानकारी एवं पर्याप्त अनुभव प्राप्त है।
  • यद्यपि फ़ॉरेक्स मार्किट सप्ताह के पांच दिन चौबीस घंटे खुली रहती है लेकिन भारत का बाजार शाम 5 बजे बंद हो जाता है। इसलिए व्यक्ति को इंट्राडे का चुनाव करना चाहिए।
  • स्कैम इत्यादि से सावधान रहने की आवश्यकता है किसी रजिस्टर्ड फ़ॉरेक्स ब्रोकर के माध्यम से ही इस तरह की ट्रेडिंग करें।
  • प्रत्येक ट्रेड के लिए स्टॉप लॉस सेट करें अन्यथा विफल हो सकते हैं।
  • फॉरेक्स ट्रेडिंग करने से पहले ट्रेडिंग करने की योजना बना लें और हमेशा उसका अनुसरण करें।
  • ट्रेडिंग से हमेशा अपनी भावनाओं को अलग करके रखें क्योंकि भावनाओं में अक्सर मनुष्य अव्यवहारिक निर्णय ले लेता है।
  • ध्यान रहे अपने नुकसान की पूर्ति के लिए ट्रेड न करें बल्कि तभी ट्रेड करें जब आपको लगता है की यह आपके लिए एकदम सही है।

यह भी पढ़ें:

इनका नाम महेंद्र रावत है। इनकी रूचि बिजनेस, फाइनेंस, करियर जैसे विषयों पर लेख लिखना रही है। इन विषयों पर अब तक ये विभिन्न वेबसाइटो एवं पत्रिकाओं के लिए, पिछले 7 वर्षों में 1000 से ज्यादा लेख लिख चुके हैं। इनके द्वारा लिखे हुए कंटेंट को सपोर्ट करने के लिए इनके सोशल मीडिया हैंडल से अवश्य जुड़ें।

जानिए फॉरेक्स ट्रेडिंग से कैसे बना सकते हैं पैसा

फॉरेक्स ट्रेडिंग में अलग-अलग देशों की करेंसी का लेन-देन होता है। इसे ही फॉरेक्स ट्रेडिंग कहते हैं। फॉरेक्स मार्केट में एक करेंसी को दूसरे देश की करेंसी में बदला जाता है।

आजकल के इस अर्थ युग में हर कोई पैसे के लिए परेशान नजर आ रहा है। लोग ऐसे निवेश की तलाश में है, जहां रुपये का पेड़ लगाने पर मनचाहा रिटर्न मिले। ऐसे में अगर आप बेहतर रिटर्न चाहते हैं, तो हम आपको सबसे बढ़िया और सबसे अच्छा उपाय बता रहे हैं। इस उपाय के जरिए आप करोडों, अरबों में खेल सकते हैं। इस उपाय का नाम है फॉरेक्स ट्रेडिंग। जी हां फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए आप मनचाहा पैसा कमा सकते हैं। फॉरेक्स ट्रेडिंग का नाम सुनकर घबराने की जरूरत नहीं है। यह बहुत ही सरल है। एक बार आप इसे सीख गए, तो फिर समझो कि दुनिया की करेंसी जैसे डॉलर, यूरो आपकी मुट्ठी में होगी। तो फिर पहले समझते हैं फॉरेक्स ट्रेडिंग के बारे में:-

फॉरेक्स ट्रेडिंग:-

फॉरेक्स ट्रेडिंग को ही फॉरेक्स करेंसी ट्रेडिंग कहते हैं। इसी को एफएक्स (FX) मार्केट भी कहते हैं। यह शेयर बाजार की तरह काम करता है। जैसे शेयर बाजार में लेन-देन होता है। वैसे ही फॉरेक्स ट्रेडिंग में भी होता है। अंतर इस बात का है कि शेयर बाजार में शेयर का लेन-देन होता है वहीं फॉरेक्स ट्रेडिंग में अलग-अलग देशों की करेंसी का लेन-देन होता है। इसे ही फॉरेक्स ट्रेडिंग कहते हैं। इसे आप भी कर बैठे इंटरनेट के जरिए कर सकते हैं। फॉरेक्स मार्केट में एक करेंसी को दूसरे देश की करेंसी में बदला जाता है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात याद रखना है एक्सचेंज रेट का। एक करेंसी को दूसरे देश की करेंसी में बदलने की दर को एक्सेचेंज रेट कहते हैं। यानी आप यूरो से डॉलर में, डॉलर को यूरो में, रुपये को डॉलर में या किसी भी देश की करेंसी को किसी भी देश की करेंसी के साथ बदल सकते हैं।

कैसे करें ट्रेडिंग :-

फॉरेक्स ट्रेडिंग आजकल ट्रेडिंग का सबसे ज्यादा हॉटस्पॉट प्लेस है। यहां एक से बढ़कर एक बिजनेस मैन ट्रेडिंग करते हुए नजर आएंगे। अगर आप भी ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो हम आपको बता रहे हैं कि ट्रेडिंग कैसे करें और किस तरह से की जाती है। ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले आपके पास डीमैट एकाउंट होना जरूरी है।

ट्रेडिंग करेंसी ऑनलाइन:-

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि ऑनलाइन ट्रेडिंग यानी यहां पर आप ऑनलाइन ट्रेडिंग कर सकते हैं। इसके लिए आपका डीमैट एकाउंट होना जरूरी है। एकाउंट ओपने के बाद आपको हर देश की करेंसी के उतार-चढ़ाव पर ध्यान देना है। यानी एक्सचेंज रेट पर ध्यान देना है। इसमें जो एक्सचेंज रेट आपको अच्छा लगे, उसी में लॉक कर देना है। फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए ये सबसे बेहतर उपाय है।

ब्रोकरेज फर्म के जरिए कमाई:-

फॉरेक्स ट्रेडिंग में अगर आपने महारत हासिल कर ली, तो फिर ब्रोकरेज फर्म उसका अगला स्टेप है। इसमें आप ब्रोकरेज फर्म खल सकते हैं। इसके जरिए आप अन्य निवेशकों से ट्रेडिंग कराएं। इसमें आपको निवेशकों द्वारा खरीदने, बेचने पर कमीशन मिलेगा। इसके अलावा अगर आप निवेशक को बेहतर एक्सचेंज दिलाते हैं। आपकी साख भी बढ़ेगी। जिससे आपके यहां निवेशक बढ़ेंगे। इसमें आप बिना ट्रेडिंग किए हुए करोड़ों, अरबों कमा सकते हैं।

वेबसाइट के जरिए फॉरेक्स ट्रेडिंग:-

फॉरेक्स ट्रेडिंग में आप वेबसाइट खोलकर भी पैसे कमा सकते हैं। इस वेबसाइट पर आपको फॉरेक्स ट्रेडिंग करने वालों की जरूरते पूरी करनी होगी। वेबसाइट पर लोगों को फॉरेक्स ट्रेडिंग से संबंधित जानकारी देनी होगी। आप अपने वेबसाइट के जरिए लोगों को को एक से पांच साल की सदस्यता देकर उनको अपना ग्राहक बना सकते हैं। इसमें आपको डीमैट एकाउंट के बारे में जानकारी देनी होगी। फिर आप सलाहकार के रूप में फीस लेकर भी निवेशकों को सुविधा दे सकते हैं। यहां भी आप बिना ट्रेडिंग किए मोटी रकम कमा सकते हैं।

मनी एक्सचेंज एजेंसी खोलना:-

एक्सचेंज रेट के बारे में अच्छी जानकारी रखने वालों के लिए एक्सेचेंज एजेंसी खोलना सबसे बढ़िया उपाय है। इसके जरिए आप लोगों की करेंसी को एक्सचेंज (बदल) सकते हैं। इसमें आपको हर दिन कमाई होती रहेगी। करेंसी को बदलने पर आपको शानदार कमीशन मिलेगा। कुल मिलाकर आप एक्सचेंज एजेंसी के जरिए भी बेहतर कमाई कर सकते हैं।

इस प्रकार से फॉरेक्स ट्रेडिंग की बारीकियों को समझने और एक्सचेंज रेट पर पैनी नजर रखने वाले करोड़ों, अरबों की कमाई कर सकते हैं।

forex trading in hindi.फोरेक्स ट्रेडिंग क्या होता है ?

forex trading in hindi.फोरेक्स ट्रेडिंग क्या होता है ?

मनस्ते दोस्तों। आज हम जानने वाले है की forex trading in hindi में क्या होता है। और कैसे हम फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकते है। क्या हम फोरेक्स ट्रेडिंग कर के भी अच्छा खासे पैसे कमा सकते है भी या नहीं।और क्या फोरेक्स ट्रेडिंग भारत में की जा सकती है या नहीं। की जा सकती है तो फिर किस माध्यम से की जा सकती है। इन सब के बारे में आज हम सीखने वाले है।

forex trading in hindi.फोरेक्स ट्रेडिंग क्या होता है ?

forex trading का मतलब होता है की बाहर की देशो के जो मुद्राये होती है। यानि की करेंसी उनकी जो खरेदी बिक्री की जाती है। उसेही forex trading in hindi में कहा जाता है। forex ये शब्द foreign +exchange से आया है। हम कोई भी देश की मुद्रा यानि की करेंसी हमारी करेन्सी में डिजिटली खरीद या बेच सकते है। उसेही फोरेक्स ट्रेडिंग कहा जाता है।

forex trading भी ये हमरे शेयर बाजार की तरह ही होता है। लेकिन इसका जो मूल्य है यानि की valume जो होता है वो हमारे शेयर बाजार से ज्यादा होता है। क्युकी इसमें स्टॉक की ट्रेडिंग नहीं होती। इसमें होती है मुद्रा यानि करेंसी की ट्रेडिंग। जो पुरे देश में चलती है। यानि फोरेक्स ट्रेडिंग पूरा देश में की जाती है। इसीलिए इसका मूल्य हमारे शेयर बाजार से कई गुना ज्यादा होता है।

forex trading in india

जैसे की मैंने आपको बताया फोरेक्स ट्रेडिंग शेयर बाजार जैसे होती है। भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए सेबी रजिस्टर ब्रोकर के पास अपना ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना पड़ता है। अगर आपका शेयर बाजार का पहले से ही ट्रेडिंग अकाउंट है तो आप उसमेंही फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकते है।

भारत में हम ७ पेयर्स में फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकते है। पहले तो सिर्फ चार ही पेयर्स थे लेकिन अभी हम साथ पेयर्स में भारत में ट्रेडिंग कर सकते है। भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग हमेश जोड़ो में की जाती है। और हर मुद्रा के मुद्रा से जोड़कर की जनि वाले ट्रेडिंग को ही फोरेक्स ट्रेडिंग करते है। जैसे की –

इनमे से सबसे बड़ी करेंसी है USD .और जिस जोड़ी में INR लगा है।उस पेयर्स में हम भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकता है। वो भी हमारे भारत के सेबी रजिस्टर ब्रोकर के माध्यम से। और अगर आपको और भी पियर्स में ट्रेडिंग करनी है तो आपको अंतररास्ट्रीय प्लेटफार्म पर अपना ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना पड़ता है।

forex trading kaise kare for begginers

आप अपने भारत सेबी रजिस्टर ब्रोकर से अपना ट्रेडिंग फोरेक्स ट्रेडिंग के बारे में अकाउंट खुलवा लीजिये। और जैसे की मैंने कहा आप चार पेयर्स में भारत में ट्रेडिंग कर सकते है। भारत में आप future & option में फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकते हो। आपको पहले कोनसा भी पेयर्स का चयन करना होगा।

फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए हमें ब्रोकर्स से अच्छा मार्जिन मिलता है। जो हम ट्रेडिंग के लिए इस्तेमाल कर सकते है। जैसे की हमने USD/INR में ट्रेडिंग करनी है। तो हम USD/INR का लॉट खरीदेंगे। जैसे निचे दिखाए गए इमेज में आप देख सकते है।

forex trading in hindi

आपको आपके वॉचलिस्ट में टाइप करना है USD/INR आपको अगर option trading करनी है तो आप एक्सपायरी देख कर लॉट खरीद सकते है।

forex trading se paise kaise kamaye

अभी USD/INR का प्राइज चल रहा है ७५ रुपये। और अगर आपने अभी इसे खरीद लिया। और अगर थोड़े दिनों के बाद अगर ये बढ़ जाता है। तो आपको मुनाफा होगा। और अगर घाट जाता ये यानि की अगर ये ७३ रुपये हो जाता है तो आपको १ रुपये का नुकसान हो जायेगा। लेकिन ऑप्शन ट्रेडिंग में ध्यान रहे ये आपको एक्सपायरी के पहले बेच देना है।

फोरेक्स ट्रेडिंग (forex trading in hindi) की एक खासियत ये की वो ज्यादा वोलेटाइल नहीं होता। मतलब वो दिन में सिर्फ १० पैसो से लेकर ५० या फिर ७० पैसो तक ही ऊपर निचे होता है। मतलब आपको ज्यादा नुकसान नहीं हो सकता। सिर्फ आपको १० से ५० पैसो कही नुकसान हो सकता है।

फोरेक्स ट्रेडिंग में आपको लॉट साइज होती है। मतलब आपको अगर करेंसी खरीदनी है तो आपको एक फिक्स मात्रा में करेंसी खरीदनी होती है। आम तौर पे अगर आप एक लॉट ७४ रुपये के प्राइज पे usd/inr खरीदते हो तो वो २२०० रुपये तक आ जायेगा। क्युकी आपको ब्रोकर मार्जिन देता है।

forex trading example

हम अभी उदहारण के तौर पर समझते है। अभी डॉलर का भाव चल रहा है ७५ रुपये। यानि हमें १ डॉलर खरीदने के लिए ७५ भारतीय डॉलर देने पड़ेंगे। समझो अगर आप विदेश जाते है। यानि आप अगर अमेरिका गए तो वहापर हमारी भारत की मुद्रा (करेंसी ) नहीं चलती। तो आपको हमारे भारतीय रुपये अमेरिका के डॉलर में रूपांतरित करने होते है। जैसे की हमारे पास १ लाख रुपये तो डॉलर में वो रूपांतरित होने के बाद वो १३३४ डॉलर बन जायेंगे।

और १ महीने के बाद आप अगर वापस भारत आना चाहते हो। लेकिन भारत में तो डॉलर नहीं चलता। तो आपको वही डॉलर को भारतीय रुपयों में रूपांतरित कारणा होगा। अभी वही १३३४ डॉलर को आप रूपांतरित करने जाते हो तो आपको १०६७२० रुपये मिलेंगे।

लेकिन ये कैसे आप को तो एक लाख रुपये मिलने चाहिए। लेकिन एक महीने में जो डॉलर का भाव जो ७५ रुपये था वो अभ बढाकर ८० रुपये हो गया है। इसीलिए आपको ऊपर का मुनाफा यानि छे हजार सात्सो बिस रुपये का होगा।

यकीं हे आपको यह उदहारण समज आ गया होगा। की डॉलर का भाव चढ़ाता घटता रहता है।उसके मुताबिक ही हमारे भारतीय रुपयेसे उसे हम खरीद या बेच सकते है।

forex trading time

अगर हमारे भारत की बात करे तो फोरेक्स ट्रेडिंग (forex trading in hindi) का वक्त सुबह ९ बजे से लेकर शाम के ५ बजे तक ही होता है। हलाकि forex trading २४ घंटे चालू रहता है। लेकिन सेबी के मुताबिक हमारे भारत में उसका टाइम ९ ले लेकर ५ बजे तक निचित किया गया है। सेबी के माध्यम से ही हम फोरेक्स में ट्रेडिंग कर सकते है।

अगर आपको फोरेक्स में ट्रेडिंग करना यानि की अगर आपको सभी करेंसी में ट्रेडिंग करनी है। तो आपको फोरेक्स ट्रेडिंग के लिए ब्रोकर्स की जरुरत पड़ेगी। जो आपको forexbrokers.com पे मिलेंगे। आप चाहे तो उन ब्रोकर्स के नाम इस वेबसाइट पे जाकर पढ़ सकते हो।

निष्कर्ष

forex trading in hindi हमारे भारत में लीगल यानि क़ानूनी है। और हम हमारे ब्रोकर के माध्यम से जो की सेबी रजिस्टर है forex trading कर सकते है। और ये काम वोलेटाइल होने की वजह से ये शेयर बाजार से काम रिस्की होता है। लेकिन फोरेक्स ट्रेडिंग के लिए आपके पास फोरेक्स ट्रेडिंग ज्ञान भी होना जरुरी है। तब जेक आप forex trading में पैसे कमा सकते है।

यकीं है की आपको forex trading in hindi में क्या होता है। forex trading kaise karte hai , forex trading time ,forex trading se paise kaise kamaye, forex trading kaise kare for begginers ,और forex trading kya hota hai .इन सब के बारे में जानकारी मिल गयी होगी।

अगर आपको आजकी ये हमारी पोस्ट अच्छी लगे तो कृपया इसे अपने फैमेली और दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजियेगा। ताकि उन्हें भी forex trading in hindi के बारे में जानकारी मिले।

अगर आपको शेयर बाजार के विषय में कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज सकते है। और ऐसीही शेयर बाजार के विषय में लेख पढ़ने के लिए हमारे वेबसाइट की सब्सक्राइब जरूर कर लेना। ताकि आपको नए नए लेख पढ़ने को मिले। धन्यवाद !

रेटिंग: 4.63
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 153
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *