प्रमुख भारतीय स्टॉक एक्सचेंज

यथा शक्ति जमा योजना

यथा शक्ति जमा योजना
बाँधों के विशाल जलाशयों की गाद को कुदरती तरीके से निकाला जा सकता है। यह चमत्कार भी नहीं है। यह सुनकर या पढ़कर भले ही अटपटा लगे पर यह सम्भव है। चीन ने इसे बिना मानवीय श्रम या धन खर्च किये, कर दिखाया है। यह किसी भी देश में हो सकता है। भारत में भी ऐसा हो सकता है।

एक माह की गाड़ी और स्कूल फीस में छूट की घोषणा

एक माह की गाड़ी और स्कूल फीस में छूट की घोषणा

कोरोना काल में लाकडाउन की मार झेलते हुए अर्थव्यवस्था में आई गिरावट का सबसे अधिक असर मध्यम वर्गीय परिवार को हुआ है। सरकार द्वारा की गई घोषणाओं में इतनी राहत दी गई कि कर्ज, बिल की पेमेन्ट को कुछ समय के लिए आगे बढ़ा दिया गया, लेकिन इसकी एक साथ मार लोगों को झेलनी ही पड़ेगी। सबसे ज्यादा मांग प्राईवेट स्कूलों की फीस को लेकर की गई थी, लाकडाउन के कारण पालकों को हुई असुविधा को ध्यान में रखते हुए नगर के प्रणम्या चिल्ड्न्स एकेडमी दरगहन के शाला प्रबंधन समिति द्वारा पालको को राहत देते हुए गाड़ी एवं स्कूल के फीस में एक माह की छूट देने की घोषणा की गई। प्रबंधक पंकज जाजु ने कहा कि कठिनाई की इस घड़ी में शाला परिवार जो यथा शक्ति प्रयास कर सकता है। वह करने में शाला प्रबंधन पीछे नहीं हटेगी। प्रबंधन के इस निर्णय की सराहना खण्ड शिक्षा अधिकारी एसपी कोसरे ने भी की।

विशेष ग्राम सभा 12 को

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

सामुदायिक व्यक्तिगत वनाधिकार के निरस्त नवीन दावों को ग्राम स्तरीय वनाधिकार समिति द्वारा दावा पूर्णकर परीक्षण के बाद ग्राम सभा द्वारा प्राप्त दावों को पारित किया जाना है। उक्त संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत केएल फाफा ने बताया कि 12 जून को जनपद पंचायत के ग्रामों में विशेष ग्राम सभा का आयोजन किया जाना है। जिसमें अनुसूचित जाति एवं अन्य परंपरागत वन निवासी वन अधिकार की मान्यता अधिनियम 2006 एवं 2007 के अंतर्गत प्राप्त आवेदनों के नवीन दावों के ग्राम स्तरीय वनाधिकार समिति द्वारा दावे पूर्ण कर परीक्षण उपरांत ग्राम सभा के द्वारा दावों को पारित किया जाना है।

Kanker News: कारोबारी के घर में लगी आग, लाखों का हुआ नुकसान

अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश की आवेदन तिथि आगे बढ़ी

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नरहरदेव में अंग्रेजी माध्यम का सहआवासीय विद्यालय सत्र 2021 -22 से प्रारंभ होने जा रही है। इसके तहत जिला मुख्यालय के शासकीय नरहरदेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में प्रवेश के लिए आवेदन जमा कर सकते हैं। आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेज में स्थानांतरण प्रमाण पत्र, आधार की छाया प्रति, फोटो, बैंक पासबुक व अन्य दस्तावेजों के साथ शासकीय नरहरदेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में पहली से तीसरी तक की कक्षाओं के लिए हिंदी माध्यम के विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। चौथी से बारहवीं तक के लिए निजी विद्यालय या फिर अंग्रेजी माध्यम में अध्ययनरत विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। खंड शिक्षा अधिकारी केशव साहू, विकासखंड दुर्गूकोंदल के समस्त अभिभावकों से निवेदन किया है उक्त योजना का लाभ लेते हुए अपने बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में खुलने जा रहे विद्यालय में पढ़ाने हेतु आवेदन अधिक से अधिक संख्या में जमा करें।

भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव: नामांकन वापसी के अंतिम दिन 14 उम्‍मीदवारों ने वापस लिए नाम, अब 7 प्रत्याशी के बीच मुकाबला

नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि आज

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

ब्लॉक मुख्यालय में नवीन कन्या छात्रावास में सभी वर्ग के छात्राओं को प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित की गई है। खंड शिक्षा अधिकारी केशव साहू एवं खंड स्रोत समन्वयक आरआर यादव ने बताया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत शिक्षा सत्र 2020-21 से नवीन कन्या आवासीय छात्रावास राज्य शासन के द्वारा विकासखंड मुख्यालय दुर्गूकोंदल में स्वीकृत हुआ है। इसमें छठवी में 25 एवं नवमी में 34 छात्र का चयन किया जाना है। नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु बीपीएल पालक विहीन नक्सल पीड़ित शाला त्यागी बालिकाओं को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। वहीं नवीन कन्या छात्रावास में यथा शक्ति जमा योजना सभी वर्ग की बालिकाओं को प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश प्रक्रिया में शासन के आरक्षण नियमों का पालन किया जाएगा। खंड शिक्षा अधिकारी ने नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु कक्षा छठवीं एवं नवमी के छात्राओं को 10 जून तक विकासखंड मुख्यालय के बीआरसी कार्यालय में कार्यालयीन समय में आवेदन पत्र जमा कर सकते हैं। नवीन छात्रावास की प्रक्रिया शिक्षा सत्र 2020-21 से किया जाना है जिसके लिए स्थान पर चयन किया गया है और छात्राओं को इसी वर्ष प्रवेश दिया जाएगा।

Kanker News: भानुप्रतापपुर में नक्सलियों ने मचाया तांडव: मोबाइल टावर को किया आग के हवाले, नेटवर्क बंद, यात्री बस को भी फूंका

एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा कल

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा 11 जून को शासकीय उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय संबलपुर में आयोजित होगी। बीईओ केशव साहू ने बताया कि शिक्षा सत्र हेतु एकलव्य आवासीय विद्यालय में छठवीं में प्रवेश हेतु प्रवेश परीक्षा 11 जून को आयोजित की जाएगी। कोरोना वायरस के चलते विकासखंड दुर्गूकोंदल को रेड जोन घोषित होने के कारण परीक्षा का स्थान दुर्गूकोंदल ब्लॉक के छात्र-छात्राओं के लिए संबलपुर उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित की गई है। परीक्षा 11 जून को सुबह 9ः30 बजे आयोजित की जाएगी। उन्होंने विकासखंड के समस्त छात्र-छात्राओं को एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों से कहा है कि परीक्षा में समय सीमा पर पहुंचने की अपील की है।

मुनिश्री समता सागर जी महाराज का ड्डूका मे भव्य मंगल प्रवेश

मुनिश्री समता सागर जी महाराज का ड्डूका मे भव्य मंगल प्रवेश

Banswara May 23, 2018 - ख्यातनाम जैन संत आचार्य विद्या सागर महाराज के सुशिष्य मुनि श्री समता सागरजी महाराज का बीते कल मंगलवार सुबह ड्डूका मे भव्य मंगल प्रवेश हुआ। मुनिश्री का जगह जगह पर जैन समाज, जैन युवा समिति ड्डूका तथा प्रभावना महिला मंडल द्वारा पाद प्रक्षालन किया गया। मुनिश्री ने समाज जनो से सदकर्म करने, धर्म प्रभावना करने एवं यथा शक्ति दान करने का आव्हान किया।

Ground Water

More news

डीएपी के बाद यूरिया की कालाबाजारी: किसानों का हंगामा, 110 रुपए अधिक लेकर 275 कट्‌टे यूरिया बेचा, विरोध पर थाने पहुंचा ट्रक

डीएपी के बाद यूरिया की कालाबाजारी: किसानों का हंगामा, 110 रुपए अधिक लेकर 275 कट्‌टे यूरिया बेचा, विरोध पर थाने पहुंचा ट्रक

डीएपी के बाद अब यूरिया की कालाबाजारी बढ़ गई है। बीती रात तय मूल्य से यूरिया के अधिक दाम वसूलने का मामला तूल पकड़ गया। घाटोल के सवनिया में

15 हजार कलश के साथ धार्मिक आयोजन का आगाज:संत मावजी के लगे जयकारे, श्रीराधाकृष्ण मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव

15 हजार कलश के साथ धार्मिक आयोजन का आगाज:संत मावजी के लगे जयकारे, श्रीराधाकृष्ण मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव

वागड़ के हरिद्वार और संत मावजी महाराज के बेणेश्वर धाम पर रविवार को छह दिवसीय श्रीराधा कृष्ण मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव का रविवार को शंखनाद

सर्दी से बने बादल जहाँ से निकले हवाईजहाज, उत्तरी हवा के असर से दिन-रात का पारा 2-2 गिरा, इस सीजन में पहली बार 12 डिग्री हुआ रात का पारा

सर्दी से बने बादल जहाँ से निकले हवाईजहाज, उत्तरी हवा के असर से दिन-रात का पारा 2-2 गिरा, इस सीजन में पहली बार 12 डिग्री हुआ रात का पारा

जिले में सर्दी के तेवर बढ़ने लगे हैं। शनिवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान में 2-2 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है। इस सीजन में पहली जिले में रात का पारा

चेक बाउंस के मामले में आरोपी को दो साल की केद

चेक बाउंस के मामले में आरोपी को दो यथा शक्ति जमा योजना साल की केद

बांसवाड़ा चेक बाउंस के मामले में अदालत ने आरोपी को दो साल की कैद और 2 लाख 20 हजार रुपए के जुर्माने की सजा खाई है। कंपनी के क्षेत्रीय विधि नवीन

स्कूल से पोषाहार चुराने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

स्कूल से पोषाहार चुराने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गढ़ा में पोषाहार चुराने वाले दो आरोपियों को आंबापुरा पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों से

52 करोड़ रुपए का है प्लांट, 7733 हेक्टेयर तक फैला नोन कमांड क्षेत्र, ट्रायल की तैयारी नोन क्षेत्र में सोलर से पहुंचाएंगे पानी

52 करोड़ रुपए का है प्लांट, 7733 हेक्टेयर तक फैला नोन कमांड क्षेत्र, ट्रायल की तैयारी नोन क्षेत्र में सोलर से पहुंचाएंगे पानी

बांसवाड़ा माही बांध बनने के 37 वर्षों बाद पहली बार सोलर एनर्जी सिंचाई सिस्टम से 1733 हैक्टेयर नोन कमांड क्षेत्र में पानी पहुंचाया जाएगा। इसको लेकर बांसवाड़ा

घोड़े पर विराजित कल्कि अवतार की पहली मार्बलकी प्रतिमा. एक ही शिला से बनी मूर्ति, आसपास श्रीहरि के दशावतार

घोड़े पर विराजित कल्कि अवतार की पहली मार्बलकी प्रतिमा. एक ही शिला से बनी मूर्ति, आसपास श्रीहरि के दशावतार

वागड़ प्रयाग बेणेश्वर धाम पर श्री हरि मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सत रविवार से आरंभ होगा। इसी महोत्सव में 2 दिसंबर को मंदिर परिसर में श्री निष्कलंक

स्कूलों में भौतिक सत्यापन 30 तक होंगे

स्कूलों में भौतिक सत्यापन 30 तक होंगे

शिक्षा विभाग ने सत्र 2022-23 में आरटीई के तहत निजी स्कूलों में निशुल्क पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों के भौतिक सत्यापन की तिथि बढ़ा दी है। अब शिक्षा

ऑनलाइन मिलेगा यूनिफॉर्म का पैसा

ऑनलाइन मिलेगा यूनिफॉर्म का पैसा

प्रदेश के सरकारी स्कूलों के करीब 65 लाख से अधिक विद्यार्थियों को मिलने वाली निशुल्क यूनिफॉर्म पर फिर संकट आ गया। जुलाई में सेशन शुरू हो चुका

भीमपुर में बदमाशों ने वाहनों पर पथराव किया

भीमपुर में बदमाशों ने वाहनों पर पथराव किया

बांसवाड़ा-उदयपुर स्टेट हाइवे पर भीमपुर चौकी के सामने शनिवार रात 9 बजे बाइक सवार बदमाशों ने लूट के इरादे से वाहनों पर पथराव किया।

जलाशयों की गाद हटाने में बाढ़ का उपयोग

.

बाँधों के विशाल जलाशयों की गाद को कुदरती तरीके से निकाला जा सकता है। यह चमत्कार भी नहीं है। यह सुनकर या पढ़कर भले ही अटपटा लगे पर यह सम्भव है। चीन ने इसे बिना मानवीय श्रम या धन खर्च किये, कर दिखाया है। यह किसी भी देश में हो सकता है। भारत में भी ऐसा हो सकता है।

परिणाम पाने के लिये बरसात के चरित्र, जलस्रोत से पानी निकालने वाली व्यवस्था के इंजीनियरिंग पक्ष जैसे कुछ पहलुओं को ध्यान में रखने की आवश्यकता है।

जलाशय के लबालब भरने और गाद निकालने के साथ-साथ बारिश के टाइम-टेबल अर्थात मौसम विभाग की भविष्यवाणियों पर भी पूरा-पूरा ध्यान देना होगा। इस काम का सामाजिक और आर्थिक पक्ष भी है। जलाशय यथा शक्ति जमा योजना में पानी की उपलब्धता का असर किसान की माली हालत और कृषि उत्पादन पर पड़ता है।

दैनिक भास्कर (भोपाल संस्करण, 30 जून, 2016, पेज 14) में बाँध से गाद को निकालने के प्राकृतिक तरीके के बारे में समाचार छपा है। समाचार का लब्बोलुआब यह है कि चीन की यलो नदी मिट्टी और गाद से भरी हुई है। हैनान में यलो नदी पर शियाओलेंगडी बाँध बना है।

समाचार में बताया है कि बुधवार को शियाओलेंगडी बाँध के गेट खोले गए। हर साल बारिश के मौसम में गेट खोले जाते हैं। इसे देखने के लिये हजारों पर्यटक एकत्रित होते हैं। गेट खोलने से गाद मिला पानी बाहर आता है।

जलाशय की गाद को यथाशक्ति कम करता है। यह आशा की किरण है। जलाशय से अधिक-से-अधिक गाद कैसे निकले और उसका टाइम-टेबिल क्या हो, तकनीकी लोग बैठकर तय कर सकते हैं। सारी प्रक्रिया को यथाशक्ति निरापद बना सकते हैं।

यह अभिनव प्रयोग है। कुदरती है। हानिरहित है। पानी की गुणवत्ता को ठीक करने वाला है। यथा शक्ति जमा योजना इस विधि में बाढ़ के साथ आने वाली और बाँध में जमा गाद का कुछ हिस्सा बिना कुछ धन खर्च किये निकाला जा सकता है। यह नदी की कुदरती जिम्मेदारी को पूरा करता वैज्ञानिक तरीका है। इसी तरीके से नदियाँ, हर साल करोड़ो टन सिल्ट, चुपचाप समुद्र में पहुँचा देती हैं।

इस सिद्धान्त में कोई खोट या तकनीकी कमी नहीं है। इस तरीके को अपनाने से जलाशय में जमा गन्दगी कम होती है। गाद के निपटान में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आती। बचाए मानव श्रम, ऊर्जा और धन को अन्य उत्पादक कामों में लगाया जा सकता है। विकास की योजना संचालित की जा सकती है। उपर्युक्त कारणों से चीन का अभिनव प्रयोग नजरे इनायत की अपेक्षा करता है।

पुराने समय में भारत में, बहुत सारे तालाबों का निर्माण हुआ था। कुछ तालाब हजार साल से भी अधिक पुराने हैं। विभिन्न कारणों से अधिकांश पुराने तालाब में गाद भर गई है। गाद भर जाने के कारण वे आंशिक या पूरी तरह अनुपयोगी हो गए हैं। उनके अलावा देश में बहुत बड़ी मात्रा में बाँधों, स्टापडैमों और तालाबों का निर्माण हुआ है।

अनुमान है कि अकेले मनरेगा की ही मदद से देश में 123 लाख जल संरचनाएँ बनी हैं। विभिन्न कारणों से उन सभी सतही जलस्रोतों में बड़ी मात्रा में गाद जमा हो रही है। गाद जमा होने के कारण, उनकी जलक्षमता और उम्र घट रही है। कुछ छोटे तथा मंझोले सतही जलस्रोत तथा स्टापडैम गाद से पटकर लगभग अनुपयोगी हो गए हैं।

भारत में ग्रामीण तालाबों से गाद निकालने की पुरानी परम्परा रही है। उस गाद का उपयोग घर की मरम्मत तथा खेतों को उपजाऊ बनाने में किया जाता था। अंग्रेजों के भारत में काबिज होने के बाद, समाज द्वारा स्वेच्छा से गाद निकालने की परम्परा घटी। धीरे-धीरे तालाब, गाद जमाव के शिकार होने लगे। अब, लोगों का ध्यान उनकी ओर गया है।

गाद निकालने के काम को धीरे-धीरे वरीयता मिल रही है। उसके लिये प्रयास प्रारम्भ हो गए हैं। यह काम मजदूर लगाकर या मशीनों की मदद से होने भी लगा है। अनुभव बताता है कि मौजूदा तरीका खर्चीला और अस्थायी है। इसके बावजूद देश के अनेक इलाकों में यथा शक्ति जमा योजना तालाबों से गाद निकालने के काम को किया जा रहा है।

तेलंगाना में इसे मिशन मोड में मिशन काकतीय का नाम देकर किया जा रहा है। इस मिशन के अन्तर्गत 45000 तालाबों को पुनः जीवित किया जाएगा। इस काम पर 20,000 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। गौरतलब है कि तेलंगाना में काकतीय राजाओं द्वारा बनवाए बहुत सारे तालाब हैं।

भारत में ग्रामीण तालाबों से गाद निकालने की पुरानी परम्परा रही है। उस गाद का उपयोग घर की मरम्मत तथा खेतों को उपजाऊ बनाने में किया जाता था। अंग्रेजों के भारत में काबिज होने के बाद, समाज द्वारा स्वेच्छा से गाद निकालने की परम्परा घटी। धीरे-धीरे तालाब, गाद जमाव के शिकार होने लगे। अब, लोगों का ध्यान उनकी ओर गया है। गाद निकालने के काम को धीरे-धीरे वरीयता मिल रही है। उसके लिये प्रयास प्रारम्भ हो गए हैं। यह काम मजदूर लगाकर या मशीनों की मदद से होने भी लगा है। टाइम्स आफ इण्डिया की 31 मई, 2016 को छपी रिपोर्ट के अनुसार 2.8 करोड़ ट्रैक्टर फेरों द्वारा 7.3 करोड़ घन मीटर सिल्ट निकाली जा चुकी है। सरकार ने काकतीय योजना को दिये जाने वाले दान में आयकर की छूट घोषित की है। इस अभियान को भारत सरकार के नीति आयोग ने बहुत अच्छी पहल माना है। अखबार कहता है कि यह मिशन धीरे-धीरे समाज का कार्यक्रम बन रहा है। लोग स्वेच्छा से जुड़ रहे हैं। यथाशक्ति दान दे रहे हैं।

चीन का प्रयोग अभिनव है। उसे भारत में भी आजमाया जा सकता है। बड़े जलाशयों में माकूल डिजाइन के अभाव में गाद निकासी का काम कठिन हो सकता है। यदि उसे सिद्धान्ततः मान्यता मिलती है तो भी, जल निकासी की मौजूदा व्यवस्था के आगे जाकर, प्रस्तावित तकनीकी पक्ष पर पर्याप्त चिन्तन मनन आवश्यक होगा। गाद की भरपूर निकासी के लिये कुछ नया करना पड़े।

जलाशय के पानी के स्टाक का आवश्यकता से तालमेल बिठाकर ही यह काम करना होगा। चीन की नजीर और जलवायु परिवर्तन के कारण होने वाली तेज बारिश की सम्भावना के कारण यह सुझाव विचार योग्य लगता है। जहाँ तक पुराने परम्परागत तालाबों और ग्रामीण इलाकों में बने छोटे-छोटे तालाबों का प्रश्न है तो उन्हें आसानी से गादमुक्त कराया जा सकता है। उनमें लगने वाली इंजीनियरिंग आसान है। यही उचित समय भी है। इस कारण सारा मामला समाज की इच्छाशक्ति का है।

कई बार गाद निपटान समस्या बनता है। यह समस्या उसकी विशाल मात्रा या गलत निपटान के कारण भी होता है। उसके अवैज्ञानिक निपटान के कारण वह एक दो बरसात के बाद तालाब में वापिस आ जाती है। उस पर किया खर्च बेकार चला जाता है। विभिन्न कारणों से कुछ इलाकों के तालाबों की गाद में हानिकारक रसायनों, भारी धातुओं और गन्दगी की मौजूदगी की सम्भावना होती है।

ऐसी गाद से खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता खराब होती है। उत्पादों में हानिकारक रसायनों के अंश मिलने के कारण वे मानवीय सेहत के लिये ठीक नहीं होते। इन सारी सम्भावनाओं को ध्यान में रखकर कहा जा सकता है कि चीन का प्रयोग काफी हद तक अनुकरणीय है। इसे आजमाया जाना चाहिए।

एक माह की गाड़ी और स्कूल फीस में छूट की घोषणा

एक माह की गाड़ी और स्कूल फीस में छूट की घोषणा

कोरोना काल में लाकडाउन की मार झेलते हुए अर्थव्यवस्था में आई गिरावट का सबसे अधिक असर मध्यम वर्गीय परिवार को हुआ है। सरकार द्वारा की गई घोषणाओं में इतनी राहत दी गई कि कर्ज, बिल की पेमेन्ट को कुछ समय के लिए आगे बढ़ा दिया गया, लेकिन इसकी एक साथ मार लोगों को झेलनी ही पड़ेगी। सबसे ज्यादा मांग प्राईवेट स्कूलों की फीस को लेकर यथा शक्ति जमा योजना की गई थी, लाकडाउन के कारण पालकों को हुई असुविधा को ध्यान में रखते हुए नगर के प्रणम्या चिल्ड्न्स एकेडमी दरगहन के शाला प्रबंधन समिति द्वारा पालको को राहत देते हुए गाड़ी एवं स्कूल के फीस में एक माह की छूट देने की घोषणा की गई। प्रबंधक पंकज जाजु ने कहा कि कठिनाई की इस घड़ी में शाला परिवार जो यथा शक्ति प्रयास कर सकता है। वह करने में शाला प्रबंधन पीछे नहीं हटेगी। प्रबंधन के इस निर्णय की सराहना खण्ड शिक्षा अधिकारी एसपी कोसरे ने भी की।

विशेष ग्राम सभा 12 को

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

सामुदायिक व्यक्तिगत वनाधिकार के निरस्त नवीन दावों को ग्राम स्तरीय वनाधिकार समिति द्वारा दावा पूर्णकर परीक्षण के बाद ग्राम सभा द्वारा प्राप्त दावों को पारित किया जाना है। उक्त संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत केएल फाफा ने बताया कि 12 जून को जनपद पंचायत के ग्रामों में विशेष ग्राम सभा का आयोजन किया जाना है। जिसमें अनुसूचित जाति एवं अन्य परंपरागत वन निवासी वन अधिकार की मान्यता अधिनियम 2006 एवं 2007 के अंतर्गत प्राप्त आवेदनों के नवीन दावों के ग्राम स्तरीय वनाधिकार समिति द्वारा दावे पूर्ण कर परीक्षण उपरांत ग्राम सभा के द्वारा दावों को पारित किया जाना है।

Kanker News: कारोबारी के घर में लगी आग, लाखों का हुआ नुकसान

अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश की आवेदन तिथि आगे बढ़ी

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नरहरदेव में अंग्रेजी माध्यम का सहआवासीय विद्यालय सत्र 2021 -22 से प्रारंभ होने जा रही है। इसके तहत जिला मुख्यालय के शासकीय नरहरदेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में प्रवेश के लिए आवेदन जमा कर सकते हैं। आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेज में स्थानांतरण प्रमाण पत्र, आधार की छाया प्रति, फोटो, बैंक पासबुक व अन्य दस्तावेजों के साथ शासकीय नरहरदेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में पहली से तीसरी तक की कक्षाओं के लिए हिंदी माध्यम के विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। चौथी से बारहवीं तक के लिए निजी विद्यालय या फिर अंग्रेजी माध्यम में अध्ययनरत विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। खंड शिक्षा अधिकारी केशव साहू, विकासखंड दुर्गूकोंदल के समस्त अभिभावकों से निवेदन किया है उक्त योजना का लाभ लेते हुए अपने बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में खुलने जा रहे विद्यालय में पढ़ाने हेतु आवेदन अधिक से अधिक संख्या में जमा करें।

भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव: नामांकन वापसी के अंतिम दिन 14 उम्‍मीदवारों ने वापस लिए नाम, अब 7 प्रत्याशी के बीच मुकाबला

नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि आज

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

ब्लॉक मुख्यालय में नवीन कन्या छात्रावास में सभी वर्ग के छात्राओं को प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित की गई है। खंड शिक्षा अधिकारी केशव साहू एवं खंड स्रोत समन्वयक आरआर यादव ने बताया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत शिक्षा सत्र 2020-21 से नवीन कन्या आवासीय छात्रावास राज्य शासन के द्वारा विकासखंड मुख्यालय दुर्गूकोंदल में स्वीकृत हुआ है। इसमें छठवी में 25 एवं नवमी में 34 छात्र का चयन किया जाना है। नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु बीपीएल पालक विहीन नक्सल पीड़ित शाला त्यागी बालिकाओं को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। वहीं नवीन कन्या छात्रावास में सभी वर्ग की बालिकाओं को प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश प्रक्रिया में शासन के आरक्षण नियमों का पालन किया जाएगा। खंड शिक्षा अधिकारी ने नवीन कन्या छात्रावास में प्रवेश हेतु कक्षा छठवीं एवं नवमी के छात्राओं को 10 जून तक विकासखंड मुख्यालय के बीआरसी कार्यालय में कार्यालयीन समय में आवेदन पत्र जमा कर सकते हैं। नवीन छात्रावास की प्रक्रिया शिक्षा सत्र 2020-21 से किया जाना है जिसके लिए स्थान पर चयन किया गया है और छात्राओं को इसी वर्ष प्रवेश दिया जाएगा।

Kanker News: भानुप्रतापपुर में नक्सलियों ने मचाया तांडव: मोबाइल टावर को किया आग के हवाले, नेटवर्क बंद, यात्री बस को भी फूंका

एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा कल

दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा 11 जून को शासकीय उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय संबलपुर में आयोजित होगी। बीईओ केशव साहू ने बताया कि शिक्षा सत्र हेतु एकलव्य आवासीय विद्यालय में छठवीं में प्रवेश हेतु प्रवेश परीक्षा 11 जून को आयोजित की जाएगी। कोरोना वायरस के चलते विकासखंड दुर्गूकोंदल को रेड जोन घोषित होने के कारण परीक्षा का स्थान दुर्गूकोंदल ब्लॉक के छात्र-छात्राओं के लिए संबलपुर उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित की गई है। परीक्षा 11 जून को सुबह 9ः30 बजे आयोजित की जाएगी। उन्होंने विकासखंड के समस्त छात्र-छात्राओं को एकलव्य आदर्श आवासीय प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों से कहा है कि परीक्षा में समय सीमा पर पहुंचने की अपील की है।

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 647
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *