विश्लेषिकी और प्रशिक्षण

म्युचुअल फंड्स

म्युचुअल फंड्स

म्यूचुअल फंड की विशेषताएं और लाभ

अकाउंट खोलने की आसान प्रक्रिया के माध्यम से मात्र 5 मिनट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए तैयार हो जाएं.

1,600+ फंड में से चुनें

कई एसेट मैनेजमेंट कंपनियों (एएमसीएस) के सर्वश्रेष्ठ म्यूचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करें.

इन्वेस्टमेंट और मोड चुनने की आज़ादी

दो तरीकों से इन्वेस्ट करने की सुविधा - लंपसम इन्वेस्टमेंट या सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी).

किफायती इन्वेस्टमेंट

लंपसम और एसआईपी के लिए मात्र रु. 100 से अपना म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट शुरू करें.

कोई कमीशन नहीं

आप हमारे प्लेटफॉर्म के माध्यम से 0% कमीशन के साथ डायरेक्ट प्लान में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

म्यूचुअल फंड (एमएफ) इन्वेस्टमेंट अतियोग्य प्रोफेशनल्स द्वारा मैनेज किए जाते हैं. ये फंड कई इन्वेस्टर्स से पैसे जोड़कर बनाए जाते हैं और स्टॉक्स, बॉन्ड और शॉर्ट-टर्म डेट जैसी सिक्योरिटीज़ में इन्वेस्ट किए जाते हैं. फंड के दिशानिर्देशों के अनुसार इन्वेस्टमेंट किए जाते हैं.

एसेट क्लास के अनुसार, म्यूचुअल फंड को इक्विटी, डेट और हाइब्रिड फंड में वर्गीकृत किया जाता है. आप बजाज फाइनेंस के साथ म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं और अधिक लाभ और वृद्धि के अवसर प्राप्त कर सकते हैं.

एमएफ के लिए कैसे अप्लाई करें

एमएफ संबंधी सामान्य प्रश्न

डिस्क्लेमर

म्यूचुअल फंड निवेश बाज़ार जोखिमों के अधीन हैं; स्कीम से संबंधित सभी डॉक्यूमेंट ध्यान से पढ़ें.

बजाज फाइनेंस लिमिटेड ('बीएफएल') आरबीआई के साथ डिपॉजिट स्वीकार करने वाले नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल संस्थान के रूप में रजिस्टर्ड है, और एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया ("एएमएफआई") के साथ थर्ड पार्टी म्यूचुअल फंड (जिसे संक्षेप में 'म्यूचुअल फंड' कहा जाता है) के डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में रजिस्टर्ड है.

डायरेक्ट म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट करने में रुचि रखने वाले कस्टमर बजाज फिनसर्व डायरेक्ट लिमिटेड ("बीएफडीएल") के माध्यम से अपना इन्वेस्टमेंट करने पर विचार कर सकते हैं, जो बजाज फिनसर्व लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है और यह रजिस्ट्रेशन नंबर आईएनए000016083 के साथ इन्वेस्टमेंट एडवाइज़र के रूप में सेबी के साथ रजिस्टर्ड है. बीएफडीएल प्लेटफॉर्म पर म्यूचुअल फंड केवल निवासी भारतीयों के लिए उपलब्ध हैं और ये भारत के क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र के बाहर रहने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए उपलब्ध नहीं हैं. यहां पर यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि बीएफएल केवल संभावित कस्टमर को रेफर कर रहा है जो बीएफडीएल की डायरेक्ट म्यूचुअल फंड स्कीम में इन्वेस्ट करने में रुचि ले सकते हैं, इस मामले में बीएफएल स्वयं को सभी जोखिम और जिम्मेदारियों से मुक्त रखता है.

बीएफएल किसी भी तरीके से या किसी भी रूप में इन्वेस्टमेंट सलाहकार सर्विसेज़ प्रदान नहीं करता है. बीएफएल इन्वेस्टर की जोखिम प्रोफाइलिंग नहीं करता है और किसी भी म्यूचुअल फंड स्कीम या अन्य इन्वेस्टमेंट के लिए म्युचुअल फंड्स स्वतंत्र रिसर्च या विश्लेषण नहीं करता है. बीएफएल द्वारा कोई कस्टमाइज़्ड/पर्सनलाइज्ड उपयुक्तता मूल्यांकन नहीं किया जाता है. इसके अलावा, बीएफएल इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न की कोई गारंटी नहीं देता है. इसलिए, इन्वेस्टमेंट पर अंतिम निर्णय पूरी तरह से और हर समय केवल इन्वेस्टर का ही होगा और बीएफएल इसके किसी भी परिणाम के लिए उत्तरदायी नहीं होगा न ही उत्तरदायी ठहराया जा सकेगा.

सुप्पंडी : एपिसोड 4 म्युचुअल फंड्स क्या हैं?

BAF Learning Series

Understand the category of Balanced Advantage Fund with the help of these infographics.

Ishq Bhi Risk Bhi - Season 3

Ishq Bhi Risk Bhi - Season 3

In a dramatic Season 1 and 2 of 'Ishq Bhi Risk Bhi', Sandeep and Priya's love story had a roller-coaster ride.

Simplifying Money Matters with Mahek & Vivek

Simplifying Money Matters with Mahek & Vivek

Investing is not a common topic of discussion in many households. But if it was, how would these conversations be?

Ishq Bhi Risk Bhi Season - 2

Ishq Bhi Risk Bhi Season - 2

In the exciting first season of 'Ishq Bhi Risk Bhi', we heard the adventurous love story of Sandeep and Priya..

Ishq Bhi Risk Bhi Season - 1

Ishq Bhi Risk Bhi Season - 1

What’s life without love anyway? For some, it’s a reason to live while for some it’s life itself.

Nature & Financial wisdom

Nature & Financial wisdom

Nature has many valuable lessons to teach all who will listen.

Prof. Simply Simple

Prof. Simply Simple

It gives us immense pleasure to introduce the Learning Series by Prof. Simply Simple™.

Suppandi

Love to read comics? You will love this investor education initiative as Professor Simply Simple

Disclaimer

An Investor Education by Tata Mutual Fund.

To know more about KYC documentation requirements and procedure for change of address, phone number, bank details etc., please visit : https://www.tatamutualfund.com/investor-education.

Please deal only with registered Mutual Funds, details of which can be verified on the SEBI website under ‘Intermediaries / Market infrastructure institutions.

All complaints regarding Tata Mutual Fund may be directed to [email protected] and / or https://www.scores.gov.in (SEBI SCORES portal)

Nomination is advisable for all folios opened by an individual especially with sole holding as its facilitates an easy trasmission process.

This communication is a part of investor education and awareness initiative of Tata Mutual Fund.

Mutual Fund investments are subject to market risks, read all scheme related documents carefully. Copyright © 2021 Tata Mutual Fund . All rights reserved.

The information and data contained in this Website do not constitute distribution, an offer to buy or sell or solicitation of an offer to buy or sell any Schemes/Units of Tata Mutual Fund, securities or financial instruments in any jurisdiction in which such distribution, sale or offer is not authorised. The material/information provided in this Website is for the limited purposes of information only for the investors. In particular, the information herein is not for distribution and does not constitute an offer to buy or sell or solicitation of an offer to buy or sell any Schemes/Units of Tata Mutual Fund, securities or financial instruments to any person in the United States of America ('US')/Canada.

Currently, the funds of TATA Mutual Fund have not been registered under the United States Securities Act of 1933 (the 'Securities Act') or under the securities laws of any state and the funds have not been registered under the Investment Company Act of 1940 (the 'Investment Company Act') of the United States. Units in the funds are therefore not being offered or sold within the United States/ Canada or to United States/ Canadian Persons.

By entering this Website or accessing any data contained in this Website, I/We hereby confirm that I/We am/are not a U.S. person, within the definition of the term 'US Person' under the US Securities laws/resident of Canada. I/We hereby confirm that I/We are not giving a false confirmation and/or disguising my/our country of residence. I/We confirm that Tata Mutual Fund/Tata Asset Management Limited (TATA AMC) is relying upon this confirmation and in no event shall the directors, officers, employees, trustees, agents of TATA AMC associate/group companies be liable for any direct, indirect, incidental or consequential damages arising out of false confirmation provided.

Cookie Policy

This website uses cookies to help us give you the best experience when you visit. By using this website you consent to our use of cookies. For more information please review our cookie policy. Cookie Policy.

पर्सनल फाइनेंस: म्यूचुअल फंड की 'फंड ऑफ फंड्स' कैटेगिरी में निवेश करके आप भी कमा सकते हैं ज्यादा फायदा

वो लोग जो म्यूचुअल फंड में कम पैसा निवेश करने के साथ अपने पोर्टफोलियो को डायवर्स‍िफाई करना चाहते हैं उनका इसमें निवेश करना सही रहेगा - Dainik Bhaskar

अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने का प्लान बना रहे हैं लेकिन इसमें होने वाले जोखिम से घबरा रहे हैं तो पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करके जोखिम कम कर सकते हैं। फंड ऑफ फंड्स के जरिए भी जोखिम को कम किया जा सकता है। यह म्यूचुअल फंड की ही एक कैटेगरी है। इस तरह की स्कीमें दूसरी म्यूचुअल फंड स्कीमों में पैसा लगाती हैं। ऐसे निवेशक जो जोखिम घटाने के ल‍िए अपने पोर्टफोल‍ियो को डायवर्स‍िफाई करना चाहते हैं, वे इनमें निवेश कर सकते हैं। आज हम आपको म्यूचुअल फंड की इस कैटेगरी के बारे में बता रहे हैं।

क्या हैं 'फंड ऑफ फंड्स'?
फंड ऑफ फंड्स म्यूचुअल फंड की ऐसी स्कीमें है जो दूसरी स्कीमों में निवेश करती हैं। लेकिन यह इंडेक्स फंड्स और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) तक सीमित नहीं है। कई योजनाओं में निवेश करने से, फंड ऑफ फंड एक निवेशक को कई बाजार क्षेत्रों या रणनीतियों के लिए एक ब्रोड एक्सपोजर दे सकता है और इससे बेहतर रिटर्न मिलने की भी संभावना रहती है।

उदाहरण से समझें

अगर फंड मैनेजर सोने में निवेश करना चाहता है तो वह सोने में निवेश करने वाली गोल्ड स्कीम में पैसा लगाएगा, फंड मैनेजर जिस भी स्कीम में पैसा लगाना चाहे लगा सकता है। इसका मतलब यह है कि फंड ऑफ फंड्स म्यूचुअल फंड की ऐसी स्कीमें है जो दूसरी स्कीमों में निवेश करती हैं। वह किसी एक स्कीम में पैसा लगाने के लिए बाध्य नहीं होती हैं। फंड ऑफ फंड्स में कंपनी के शेयर या बॉन्ड नहीं होते हैं, फंड ऑफ फंड्स अन्य स्कीमों की यूनिट होल्ड करते हैं। एक फंड ऑफ फंड्स अपने फंड हाउस या अन्य फंड हाउस की कई स्कीमों में निवेश कर सकता है।

कई तरह के होते हैं 'फंड ऑफ फंड्स'?
फंड ऑफ फंड्स तीन तरह के हो सकते हैं। एक जो इक्विटी में निवेश करते हैं। दूसरे जो डेट फंड में पैसा लगाते हैं। तीसरे वे जिनका निवेश अंतरराष्ट्रीय बाजारों में होता है। ये तीन प्रकार तकरीबन सभी एसेट क्लास को कवर कर लेते हैं।

किसके लिए फायदेमंद है ये स्कीम?
वो लोग जो म्यूचुअल फंड में कम पैसा निवेश करने के साथ अपने पोर्टफोलियो को डायवर्स‍िफाई करना चाहते हैं उनका इसमें निवेश करना सही रहेगा। इसके अलावा ये उन लोगों के लिए भी सही है जिन्हें म्यूचुअल फंड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, क्योंकि इसमें एक विश्वस्तरीय फंड मैनेजर आपके पैसों को संभालता है। इससे भी आपका जोखिम कम हो जाता है।

Complete guide on Mutual funds (Hindi)

नमस्ते ! क्या आपने अभी तक निवेश करना शुरू नहीं किया है ? क्या आपको इस बात का डर है की आपको स्टॉक्स पिक करना नहीं आता या आपके पास इतना समय नहीं है ? तो इस कोर्स में आप यह जानेंगे की कैसे आप म्यूचुअल फंड्स से एक अच्छी शुरुआत कर सकते है, यह म्यूचुअल फंड्स कैसे काम करते है और कैसे आप अपने लिए एक बेहतर म्यूचुअल फण्ड चुन सकते है।

Course Outline

  • म्यूच्यूअल फंड्स से परिचय
  • म्यूच्यूअल फंड्स के प्रकार
  • म्यूच्यूअल फंड्स कैसे काम करते है
  • सही म्यूच्यूअल फण्ड कैसे चुने

About Course

हममे से ज़्यादातर लोगो को बचत और निवेश के बारे में अपने कॉलेज के दिनो में ही पता चल जाता है| लेकिन ज़्यादातर लोग स्टॉक्स में निवेश करने से डरते है| बहुत सारे लोग स्टॉक मार्केट से भागते है क्यूंकि उन्हें घाटा होने का डर रहता है और इसी डर के कारण वह लोग कभी स्टॉक मार्केट में निवेश नहीं कर पाते| लेकिन बहुत कम लोग ये समझ पाते है कि यह स्टॉक मार्केट नहीं बल्कि उनका स्टॉक मार्केट के बारे में आधा-अधूरा ज्ञान होना, इस घाटे का असली कारण है| तो, स्टॉक मार्केट में निवेश की शुरुआत करने का सबसे सही तरीका क्या है? क्या म्यूचुअल फंड्स से शुरुआत करना सही रहेगा? अगर हां, तो वह कौन से म्यूचुअल फंड्स है जिन्हे चुने? ऐसे में बहुत कन्फ़्यूशन होता है, ख़ास कर की तब जब आप शुरुआत कर रहे हों और आपको इसके बारे मे कुछ नहीं पता।

यह कोर्स आपको एक सही रास्ता दिखाएगा कि कैसे आप म्यूचुअल फंड्स से निवेश की शुरुआत कर सकते है, कितने प्रकार के म्यूचुअल फंड्स होते है, यह म्यूचुअल फंड्स कैसे काम करते है और कौन से वह म्यूचुअल फंड्स है जिनसे आप अपने निवेश की यात्रा शुरू कर सकते है| इन सारे सवालों का जवाब आपको इस कोर्स मे मिलेगा!

What you will get?

Course Syllabus

बचत vs निवेश

चक्रवर्ती बढ़त की विशेषता

  • चक्रवर्ती बढ़त का फायदा

एसेट क्लासेज

  • ऐसेट्स के मुख्य वर्ग

म्यूच्यूअल फंड्स का परिचय

  • म्यूचुअल फ़ंडस क्या है?
  • फ़िक्स्ड डिपॉज़िट vs म्यूचुअल फ़ंडस
  • म्यूच्यूअल फंड्स कैसे काम करते हैं?
  • म्यूचुअल फ़ंडस में निवेश कैसे करे?
  • म्यूचुअल फ़ंड निवेश से जुड़ी समस्याएँ

क्या आपको फाइनेंशियल इंटरमीडियरी की ज़रूरत है?

  • रेगुलर प्लान और डायरेक्ट प्लान
  • डायरेक्ट प्लान क्यूँ बेहतर हैं?

क्या NRIs म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते है?

  • क्या NRIs म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते है?
  • अमेरिका और कनाडा के NRIs' के लिए स्पेशल रूल
  • NRI इन्वेस्टमेंट पर टैक्सेशन का प्रभाव

म्यूचुअल फ़ंड स्कीम के प्रकार

  • एक्टिव विरुद्ध इंडेक्स फण्ड
  • म्यूचुअल फ़ंड स्कीम चुनने के पैरामीटर

SEBI's कैटेगराइज़ेशन ऑफ म्यूचुअल फ़ंड स्कीम

  • SEBI's कैटेगराइज़ेशन ऑफ म्यूचुअल फ़ंड स्कीम

टैक्सेशन

  • विभिन्न प्रकार के म्यूचुअल फ़ंड पर टैक्सेशन

Need answers? Find them here

What are the prerequisites required for this course?

There are no prerequisites for the course. However, it would be helpful if you first watch ‘Beginners guide to mutual funds' as it would help you understand the basics of mutual funds.

What is the duration of this course?

This course falls under the marathon category and can be completed in a duration of 3 hrs.

What will be covered in this course?

In the course, we have highlighted the importance of investing and have discussed various asset classes in which investors can invest. Further, we have discussed investing in mutual funds, types of mutual funds and how mutual funds work.

Do I need to install any specific software for this course?

No, you do not need to install any specific software for this course. However, it is advised for a user to have an active Internet connection and an updated web browser for a seamless learning experience.

What is the validity of this course?

Finology provides you with an opportunity to access all its tools and courses at a minimal price of Rs 499 a month. Hence, you can access this course as long as your subscription is active.

About Finology Quest

Quest is a 101 guide for anyone who wants to learn investing. The aim of these online finance courses is to make people financially literate and to make them understand the essential financial concepts and learn company analysis, so that one can know how to create & grow their wealth in the stock market.

Why choose Quest?

Quest will make you aware about investing and the secret to growing wealth. As against popular opinion, you do not always need to earn more money to be rich. In fact, financial awareness is the key to wealth creation & Quest will help you to make this journey simpler. The courses in Quest are easy to understand and explained using close-to-reality scenarios which makes learning fun and relatable. Plus, you can access it anytime and anywhere on the go, which is a cherry on the top!

For whom the Quest is?

Quest is for anybody who wants to enjoy learning finance and investing on the go. The aim of Quest is to make people financially aware. So, if you are someone making your babysteps into the markets, look no further. From personal finance to investing, Quest is your one-stop platform for almost everything finance!

The companies discussed on this website are solely for educational purposes and should not be construed as investment advice. We may or may not hold positions in any or all of these companies. However, these aren't recommendations and hence, we held no responsibility for any consequences of investment actions based on these videos.

Quest is a product of Finology Ventures Private Limited | © 2022 All Rights Reserved. All course materials and videos are protected by the Indian Copyright Act.
Terms | Privacy

Mutual Funds: म्‍यूचुअल फंड्स में निवेश करने का मन बना चुके हैं, तो ऐसे चुनें अपने लिए Best SIP

SIP का बड़ा फायदा है कि आप इसे मात्र 100 रुपए महीने से भी शुरू कर सकते हैं. ज्‍यादातर एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि SIP जितना लंबे समय के लिए होगी, इसमें कम्‍पाउंडिंग का फायदा उतना ज्‍यादा होता है.

म्‍यूचुअल फंड्स में निवेश करने का मन बना चुके हैं, तो ऐसे चुनें अपने लिए Best SIP (Zee Biz)

कहा जाता है कि बूंद-बूंद से सागर बनता है, यही बात पूंजी बनाने को लेकर भी लागू होती है. यानी छोटे-छोटे निवेश करके भी आप अपने लिए आसानी से पूंजी बना सकते हैं. हालांकि इसके लिए आपको ये पता करना होगा कि किस जगह निवेश करने पर आपको म्युचुअल फंड्स ज्‍यादा बेहतर रिटर्न प्राप्‍त होगा. इस मामले में SIP आपके लिए बेहतर साबित हो सकती है क्‍योंकि SIP में कम्‍पाउंडिंग का फायदा जबरदस्‍त मिलता है.

SIP का बड़ा फायदा है कि आप इसे मात्र 100 रुपए महीने से भी शुरू कर सकते हैं. ज्‍यादातर एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि SIP जितना लंबे समय के लिए होगी, इसमें कम्‍पाउंडिंग का फायदा उतना ज्‍यादा होता है. कम्पाउंडिंग के तहत आपको केवल निवेश की गई रकम पर रिटर्न नहीं मिलता,बल्कि आपको पहले के मिले रिटर्न पर भी रिटर्न मिलता है. लेकिन अब सवाल ये उठता है कि बेस्‍ट SIP का चुनाव कैसे किया जाए? आइए आपको बताते हैं इस बारे में.

लक्ष्‍य की पहचान करें

आपके लिए कौन सी SIP बेस्‍ट रहेगी, इसके लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले ये समझें कि आपका लक्ष्‍य क्‍या है. यानी आप SIP छुट्टी, घर के डाउन पेमेंट, या सेवानिवृत्ति के लिए बचत करने के लिए, किस कारण से शुरू करना चाहते हैं. जो भी आपका लक्ष्‍य है, उस लक्ष्‍य को पूरा करने के हिसाब से आपको SIP में पैसा लगाना होगा, ताकि आप उसके हिसाब से बेहतर रिटर्न प्राप्‍त कर सकें.


किस तरह के फंड में पैसा लगाना चाहते हैं

एसआईपी म्यूचुअल फंड कई तरह के हो सकते हैं जैसे- इक्विटी फंड, डेट फंड, मल्टी-कैप फंड और लिक्विड फंड आदि. आपको ये निर्णय लेना होगा कि किस तरह के म्‍यूचुअल फंड पर निवेश किया जाए. उदाहरण के लिए, अगर आप घूमने के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं और शॉर्ट टर्म SIP शुरू कर रहे हैं, तो आप तो आप लिक्विड फंड या डेट फंड में निवेश कर सकते हैं. लॉन्‍ग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट के लिए आपको इक्विटी म्यूचुअल फंड बेहतर माना जाता है.

तुलना करें

म्‍यूचुअल फंड में निवेश करने का मन बना चुके हैं तो सबसे पहले बेस्‍ट म्‍यूचुअल फंड की दावेदारी करने वाले शीर्ष दावेदारों की लिस्‍ट बनाएं. उनकी तुलना करें और देखें की आपकी जरूरतों को काैन पूरा कर रहा है. उनकी हिस्‍ट्री, एक्‍सपेंस रेश्‍यो, फंड मैनेजर हिस्‍ट्री आदि की तुलना करें. इससे आपको म्युचुअल फंड्स अपनी जरूरत के हिसाब से बेस्‍ट SIP का चुनाव करने में काफी मदद मिलेगी.

फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट से परामर्श लें

अगर इतना सब करने के बाद भी आप कोई डिसीजन नहीं ले पा रहे हैं, तो आप अपने फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट से बात करें. वो तमाम म्‍यूचुअल फंड्स की आपस में तुलना करके आपको आपके हिसाब से बेस्‍ट SIP चुनने में काफी मदद कर सकते हैं. इससे आपको संतुष्टि भी रहेगी कि आपने सही निर्णय लिया है.


नोट- ये आर्टिकल आईसीआईसीआई की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के हिसाब से लिखा गया है.

रेटिंग: 4.39
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 369
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *